Search Article

मेरी ब्लॉग सूची

UP Election 2022 :- हरीश द्विवेदी ने साधा निशाना ,बोले अखिलेश मुख्यमंत्री बनने लायक होते तो जनता नहीं नकारती 2017 में

UP Election 2022 :- हरीश द्विवेदी ने साधा निशाना ,बोले अखिलेश मुख्यमंत्री बनने लायक होते तो जनता नहीं नकारती 2017 में

उत्तरप्रदेश:- यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी के नेता और समाजवादी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष अखिलेश यादव और बीजेपी नेता हरीश द्विवेदी के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी हो गया है। 

Hindu Aryavart
हरीश द्विवेदी एवं अखिलेश यादव


बीजेपी सांसद हरीश द्विवेदी ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए यह तक कह दिया कि वह सीएम पद के लायक नहीं है अगर होते तो उत्तर प्रदेश की जनता उन्हें नहीं नकारती। बीजेपी हरीश द्विवेदी ने प्रेस कॉन्फ्स में बताया कि उनके पिताजी के बदौलत मुख्यमंत्री बने नहीं तो वह दोबारा इस पद पर उत्तर प्रदेश की जनता जरूर बनाती।

और पढ़ें :- मोहम्मद जिन्ना के रास्ते पर चलकर अखिलेश यादव यूपी को टुकड़े करना चाहते हैं

हालांकि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अभी आरोप-प्रत्यारोप का माहौल बनता जा रहा है आने वाले समय में और भी एक दूसरे पर हमलावर होंगे।

सभी राजनीतिक दल के नेता उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कमर कस चुके हैं और वही बसपा सुप्रीमो मायावती भी इस बार उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने का दावा कर रही है अब देखना दिलचस्प होगा कि इस बार 2022 में किसकी सरकार बनती है।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं भूतपूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का भी दावा है कि इस बार कांग्रेस का सूपड़ा साफ है और इस बार समाजवादी पार्टी की सरकार बनने का दावा कर रहे हैं।

एक तरफ कांग्रेस की महासचिव प्रियंका वाड्रा उर्फ प्रियंका गांधी ने भी विधानसभा 2022 के लिए कमर कस चुकी है और उन्होंने भी दावा किया है कि इस बार उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की पूर्ण बहुमत की सरकार बनने जा रही है उन्होंने कई प्रकार की चुनावी घोषणा पत्र भी जारी करवाई है जिसमें मुख्य रूप से महिलाओं को 40% आरक्षण देने की बात कही गई है और सभी महिलाओं को प्रतिवर्ष तीन गैस सिलेंडर कारी फल देने का वादा कर रही है और कई प्रकार की घोषणा कांग्रेस पार्टी की है जो कि अभी तक उनके ही जीती हुई सरकार जैसे छत्तीसगढ़ राजस्थान झारखंड में वादे करके जीत चुकी है लेकिन अभी तक वादा पूरा नहीं किया गया अब चुनावी रण शुरू हो चुका है देखा जाए तो सिर्फ चुनाव में वादा याद रहता है बाद में भूल जाते हैं।

अब क्या होगा उत्तर प्रदेश की जनता किसको इस बार मुख्यमंत्री बनाती है चुनाव होने के बाद ही पता चल पाएगा।