Search Article

Supreme Court CJI :- जानिए कौन बनेंगे सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस | राष्ट्रपति कोविंद 24 अप्रैल को दिलायेंगे शपथ

Supreme Court CJI :- जानिए कौन बनेंगे सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस | राष्ट्रपति कोविंद 24 अप्रैल को दिलायेंगे शपथ

नई दिल्ली:- भारत के राष्ट्रपति नये जज को दिलायेंगे शपथ जानिए कौन है सुप्रीम कोर्ट के नये न्यायाधीश चीफ जस्टिस CJI

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति भवन में NV RAMANA को शपथ दिलाएंगे उनका कार्यकाल 26 अगस्त 2022 तक रहेगा और वह 2 साल से भी कम समय के लिए इस जिम्मेदारी को संभालेंगे।

आपको बता दें हैं की मौजूदा मुख्य न्यायाधीश एसके बोबड़े 23 अप्रैल 2021 को रिटायर हो रहे हैं

रिटायर होने के बाद अगले मुख्य न्यायाधीश (CJI) जस्टिस एनवी रामना भारत के नए मुख्य न्यायाधीश होंगे राष्ट्रपति कोविंद जी ने मंगलवार को उनके नाम को मंजूरी दे दी है।

CJI,NV RAMANA, Supreme court, justice of India, justice bobde,Ramnath kovind , president, Hindu aryavart, Hindi news, breaking news, Indian newspaper, Chhattisgarh news,delhi news,aajtak,zeenews,news articles, Hindi blogs, Arvind Kejriwal, Kapil mishra, narendra modi, Amit Shah

जानकारी के लिए बता दूं कि उच्चतम न्यायालय (Supreme court) में सीनियर लेवल की बात करें तो जस्टिस रमणा अंबर के सख्त माने जाते हैं वह मौजूदा CJI के बाद सुप्रीम कोर्ट के सबसे सीनियर जज हैं।

कौन हैं जस्टिस एनवी रामणा

आपको बता दें कि जस्टिस रमना का जन्म 27 अगस्त 1957 को आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले के कुनावरम गांव में हुआ था वह किसान परिवार से हैं उन्होंने विज्ञान और कानून में ग्रेजुएशन किया और फिर आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय और केंद्रीय प्रशासनिक ट्रिब्यूनल और उच्चतम न्यायालय (सुप्रीम कोर्ट) में प्रैक्टिस की।

जस्टिस रमणा जी ने 10 फरवरी में 1983 को अपने कैरियर की शुरुआत एक वकील के तौर पर की थी।

यह भी पढ़ें :- कर्नाटक के मंगलौर में 3 मुस्लिम युवकों द्वारा मंदिर गंदा करने से नवाज की तत्काल हुई मौत जानिए रहस्य

यह भी पढ़ें: 12 साल की नाबालिग बच्चे को PUBG GAME खेलने के दौरान हुई उसकी मौत

जस्टिस रमणा 24 अप्रैल को इस मुख्य न्यायाधीश के पद पर जिम्मेदारी निभाएंगे और वे भारत के 48वें मुख्य न्यायाधीश के रूप में शपथ लेंगे। हाल ही में जम्मू कश्मीर में इंटरनेट की बहाली के लिए अहम फैसला सुनाया था जिससे वह सुर्खियों में आए।आपको बता दें कि दिल्ली हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस रह चुके हैं ।

जस्टिस रमणा विवादों से नाता रहा है

आपको बता दें कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री  जगन मोहन रेड्डी ने इनके खिलाफ शिकायत की थी और सभी शिकायतों को खारिज कर दिया गया।

ऐसे होती है मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति 

इस नियुक्ति की प्रक्रिया में मुख्य न्यायाधीश अपने रिटायरमेंट की एक महीना पहले सिफारिश भेजते हैं इसमें सबसे वरिष्ठ जस्टिस का नाम भेजा जाता है इसलिए चीफ जस्टिस  बोबड़े ने अपने उत्तराधिकारी और देश के मुख्य न्यायाधीश के तौर पर न्यायमूर्ति एनवी रामणा की सिफारिश की थी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मोहर लगा चुके हैं।