Search Article

Naxalite attack : गृह मंत्री अमित शाह असम चुनाव की रैली छोड़कर दिल्ली पहुंचे अचानक आज छत्तीसगढ़ के जगदलपुर में पहुंचे

Naxalite attack : गृह मंत्री अमित शाह असम चुनाव की रैली छोड़कर दिल्ली पहुंचे अचानक आज छत्तीसगढ़ के जगदलपुर में पहुंचे

छत्तीसगढ़:- गृह मंत्री अमित शाह असम चुनाव की रैली छोड़कर दिल्ली पहुंचे , अचानक आज छत्तीसगढ़ के जगदलपुर में पहुंचे उन्होंने नक्सली हमले में बलिदान हुए हैं जवानों को श्रद्धांजलि दी।

इस दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी मौजूद रहे बीते शनिवार को छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बीजापुर और सुकमा जिले के सीमा पर सुरक्षाबलों एवं माओवादियों द्वारा मुठभेड़ में सीआरपीएफ के 22 जवान बलिदान हो गए तथा 31 अन्य जवान घायल हुए हैं।

गृह मंत्री अमित शाह ने कहां है जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा और नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी रहेगा।

Chhattisgarh news, naxal attack, naksali hamla, Naxal attack today,Hidma naxal, urban naxal, Chhattisgarh naxalite attack, नक्सल हमला, बीजापुर दंतेवाड़ा, naxal attack in Chhattisgarh 2021, Chhattisgarh encounter, Chhattisgarh naxal attack
                 Naxal attack in Chhattisgarh 2021

नक्सली हमले में 22 जवानों के बलिदान होने की घटना सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि जवानों का मनोबल हमेशा ऊंचा है और हमेशा ऊंचा रहेगा सदियों के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी।

सीएम बघेल शनिवार को असम से रायपुर लौटने के बाद विवेकानंद एयरपोर्ट में पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि नक्सली अपनी आखिरी लड़ाई लड़ रहे हैं जल्दी उठने खत्म कर दिया जाएगा मुख्यमंत्री बघेल पिछले कुछ दिनों से असम दौरे पर थे वह विधानसभा चुनाव में पार्टी के प्रचार कर रहे थे।

नक्सलियों के खिलाफ जंग जारी रहेगी

बघेल ने कहा कि जिस तरह नक्सलियों द्वारा सा दुस्साहस किया गया हमारे जवान नक्सलियों के मान में घुसकर लड़ाई लड़ रहे हैं इस लड़ाई में नक्सलियों को काफी नुकसान हुआ है जिससे माओवादी बौखलाए हुए हैं यह केवल मुठभेड़ ही नहीं बल्कि इसे युद्ध कहा जा सकता है जो लगभग 4 घंटे तक चला।

यह भी पढ़ें:- Supreme Court CJI :- जानिए कौन बनेंगे सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस | राष्ट्रपति कोविंद 24 अप्रैल को दिलायेंगे शपथ

सीएम भूपेश बघेल जी ने कहा कि दोनों ओर से भारी गोलीबारी हुई हथगोला राकेट लांचर का भी उपयोग किया गया हमारे जवान बलिदान हुए लेकिन अपने बहादुरी के साथ लड़ाई लड़े साथ ही उन्होंने घायलों और बलिदान हुए जवानों के शव को वहां से निकालने का काम किया है।

सूचना तंत्र और सफल नहीं हुआ है ना होगा

सीएम भूपेश बघेल ने इस घटना में सूचना तंत्र का सफल होने से इनकार किया है और कहा है कि यह पुलिस शिविर पर हमला नहीं है या हम उस क्षेत्र में नक्सल विरोधी अभियान में थे सुकमा बीजापुर दंतेवाड़ा के तरफ से बढ़ते जा रहे थे तथा शिविर की स्थापना कर रहे थे नक्सली अब 40 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में सिमट कर रह गए हैं यह उनकी बौखलाहट बता रही है हम उस क्षेत्र में शिविर स्थापित करने वाले थे  शिविर और सड़कों का निर्माण होता रहेगा वह कभी नहीं रुकेगा वहां के लोगों को संसाधन मुहैया कराया जाएगा जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।