Search Article

मेरी ब्लॉग सूची

कर्नाटक के मंगलौर में 3 मुस्लिम युवकों द्वारा मंदिर गंदा करने से नवाज की तत्काल हुई मौत जानिए रहस्य

कर्नाटक के मंगलौर में 3 मुस्लिम युवकों द्वारा मंदिर गंदा करने से नवाज की तत्काल हुई मौत जानिए रहस्य

 नमस्कार दोस्तों हिंदू आर्यवर्त डॉट कॉम में आपका हार्दिक स्वागत है।

जैसा की खबर मिली है कर्नाटक के मंगलौर में 3 मुस्लिम दोस्तों ने मंदिर के दान पेटी में डाली थी आपत्तिजनक वस्तुएं और एक की तत्काल मौत होने के बाद दो दोस्तों ने कबूला जुर्म।

कर्नाटक:- यह मामला कोरगज्जा मंदिर जो कि राज्य कर्नाटक के मंगलौर में स्थित है दक्षिण कन्नड़ कहा जाता है। दरअसल, 3 मुस्लिम युवकों द्वारा कोरगज्जा मंदिर के दानपात्र में कंडोम में मूत्र भरकर रखने की बात सामने आई है इनमें से एक दोस्त नवाज की तुरंत मौत हो गई जिससे दो दोस्त डर गए और मंदिर के पुजारी के सामने अपना गुनाह कबूल कर लिया।

वहीं बाद में पुजारी ने दोनों दोस्तों को पुलिस के हवाले कर दिया जैसा कि आप सभी जानते हैं कि विशेष वर्ग के लोग सभी हिंदू मंदिरों पर इस तरह के आपत्तिजनक हरकतें करते आ रहे हैं।

कोरगज्जा मंदिर में इस गंदी हरकत करने वाले युवक की पहचान अब्दुल रहीम और तोफिक के तौर पर हुआ है दोनों ही जो काटे इलाके के रहने वाले है

कोरगज्जा मंदिर,मंगलौर, कर्नाटक, हिन्दू मंदिर, manglore temple,Hindu aryavart,koragajja temple,mangluru crime, Karnataka news, Hindi news, crime alert, breaking news, हिन्दू आर्यावर्त, नरसिंहानंद सरस्वती, bbc news,zeenews, opindia, NDTV, aajtak,fake news analysis

            Koragajja temple manglore Karnataka

इन दोनों आरोपियों के एक और दोस्त नमाज के साथ मंदिर में आपत्तिजनक वस्तु डाली इसके बाद नमाज किया जाना तबीयत बिगड़ी और खून की उल्टी होने लगा और कुछ ही दिनों बाद उसकी मौत हो गई।

ईश्वर के श्राप से बचने के लिए कबूला जुर्म

इस घटना से तोफिक और रहीम इतनी डर गए उन्हें भगवान के प्रकोप का डर सताने लगा और कुछ अनहोनी की आशंका में उन्होंने पश्चाताप करने का फैसला लिया और अपराध स्वीकार कर सजा भुगतने के लिए आत्मसमर्पण कर दिया अब दोनों दोस्त जेल की सजा काट रहे हैं।

नवाज ने मौत से पहले नसीहत दी थी कि भगवान के प्रकोप से बचने के लिए अपना जुर्म स्वीकार कर ले आने था मौत निश्चित है ऐसा उसके दोस्त नवाज ने कहा मरने से पहले उसके बाद दोनों दोस्त तुरंत पुजारी यह बात पहुंचे और अपना गुनाह कबूल करने लगे।

ये भी पढ़ें :- APJ अब्दुल कलाम के खिलाफ डासना मंदिर के महंत का विवादित बयान या सच्चाई

नवाज ने मंदिर में सोच भी किया था इस विषय पर पहले तो पुजारी को यह बातें मजाक लगा लेकिन जब पुजारी ने दानपात्र खोला तो सभी चौक गए इसके बाद पुजारी नहीं दोनों दोनों अपराधी को पुलिस के हवाले कर दिया पुलिस की पूछताछ में उन्होंने जुर्म कबूला इतना ही नहीं और कथित रूप से काले जादू में भी फसा था।

 इस मामले में की धारा 153 ए के तहत केस दर्ज कर लिया है।

पुलिस सबूत के तौर पर सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है गौरतलब है कि है कि कुछ पिछले कुछ महीनों से कम से कम चार पांच बार आपत्तिजनक वस्तुएं मिलने के मामले आ चुके हैं इसके अलावा मंदिर परिसर में विसर्जन करने का भी मामला सामने आया था इस पर कोरगज्जा के पुजारी और वहां के स्थानीय निवासियों द्वारा कोरगज्जा भगवान से प्रार्थना किया गया था कि अपराधियों को ही सजा दे और उसके बाद नवाज की मृत्यु भी हो गई और दोनों दोस्त डर से मंदिर पहुंचे।

दोस्तों इस आर्टिकल को देश के कोने कोने तक जरूर पहुंचाएं और विधर्मी यों के द्वारा किए जा रहे हैं कुकृत्य का विरोध करें और संविधान के अनुसार पुलिस के हवाले करें।